नवरात्रि के दौरान संबंध बनाना तो बहुत दूर अगर आप उस बारे में सोचते भी हैं तो…

देशभर में इस समय शारदीय नवरात्रि का त्यौहार चल रहा है. हिन्दू धर्म के लोग माता रानी के 9 दिन के इस त्यौहार को बड़ी ही धूमधाम से मनाते हैं. इन दिनों लोग उपवास रखकर माता रानी को प्रसन्न करके वरदान मांगते हैं एवं माता रानी उनकी मनोकामना भी पूरी करती हैं. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार बताया गया है कि इन 9 दिनों अपने नौ रूपों के साथ माता रानी धरती पर निवास करती हैं. यही वजह है जो लोग मैया के लिए 9 दिन का व्रत रखकर हर नियम का पालन कर पूजा-पाठ करते हैं.

Image Source-Hindustan

नवरात्रि में अगर आप भी नहीं मानते ये नियम तो मैया हो जाती हैं रुष्ट 

जानकारी के लिए शास्त्रों में बताया गया है कि इन 9 दिनों के अंदर अगर व्रत रखने वाले लोग माता रानी के नियम नहीं मानते हैं और उन्हें नजरंदाज करते हैं तो इसका खामियाजा आपको ही भुगतना पड़ता है. शास्त्रों के अनुसार पंडित बताते हैं कि नवरात्रि के दिनों में लोगों को सात्विक भोजन करना चाहिए और वासना रहित होकर ही माता रानी की साधन करनी चाहिए. नवरात्रि के दिनों में अगर आप भी वासना रहित होकर पूजा-पाठ नहीं करते हैं तो आपके साथ भी अनर्थ हो सकता है.

Image Source-krgogja

अगर आप भी नवरात्रि में बनाते हैं यौन संबंध तो जान लीजिये दुष्परिणाम 

अध्यात्मिक नजरिये से देखा जाए तो नवरात्रि के दौरान होने वाली पूजा बेहद ही पवित्र होती है. इन दिनों लोगों को यौन संबंध बनाने से बचना चाहिए. अगर पूरे पवित्र मन से माता रानी की पूजा करते हैं तो इसका हमें बड़ा ही सौभाग्य प्राप्त होता है लेकिन अगर आप इन दिनों यौन संबंध बनाने के बारे में सोचेंगे भी तो आपका मन विचलित और अपवित्र हो जायेगा, जिससे आपकी साधना भंग हो जाएगी.

Image Source-khaskhabar

गौरतलब है कि नवरात्रि में संबंध बनाना तो बहुत दूर उसके बारे में सोचने पर भी साधना भंग हो जाती है और इसका बहुत ही बुरे दुष्परिणाम होते हैं. ऐसा करने से सबसे पहले तो आप इस अवसर पर मिलने वाले लाभ से वंचित हो जायेंगे और माता रानी आपसे रुष्ट हो जायेंगी. जिसके बाद वह आप और आपके परिवार के साथ किसी भी तरह का श्राप दे सकती हैं. इसीलिए कहा जाता है कि नवरात्रि के दिनों में लोगों को खुद पर संयम रखना चाहिए नही तो आप बर्बाद हो सकते हैं.

News Source-Navbharat

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *