सुबह शरीर पर नीले-बैंगनी धब्बों के साथ सो कर उठी ये महिला, डॉक्टरों ने बताई ऐसी वजह सुनकर आप भी काँप जायेंगे

श्रॉपशायर की रहने वाली मेडिकल सेल्सपर्सन थिया विल्सन रोज़ की ही तरह सोकर तो उठीं थीं लेकिन आज की सुबह रोज़ की तरह सामान्य नहीं थी. आज सुबह थिया विल्सन अपने शरीर को देखकर बुरी तरह से डर चुकी थीं. दरअसल सुबह उठते ही थिया विल्सन ने देखा कि उनका पूरा शरीर नीले-बैंगनी धब्बों से भरा हुआ है. थिया विल्सन को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि सोती रात में उनके साथ क्या हुआ है जिसके चलते उनकी ये हालत हो गयी है? आनन-फानन में थिया विल्सन डॉक्टर के पास पहुंची जहाँ डॉक्टर ने बताया कि…

थीमा विलनिस का पुराना फोटो, जब उन्हें यह बीमारी नहीं ( image source : bhaskar )

 

डॉक्टरों ने थिया विल्सन को बताया कि उसे प्लेटलेट्स डिस्ऑर्डर हो गया है. हालाँकि इसके बाद जब थिया विल्सन की बोन मैरो बायोप्सी हुई तो रेयर किस्म का ल्यूकेमिया होने की बात सामने आई. जानकारी के लिए बता दें कि पूरी दुनिया में हर साल इस बीमारी के बमुश्किल 100 मरीज ही सामने आते हैं.

कुछ ऐसे निशान बन गए थे थीमा की बॉडी पर ( image source : bhaskar )

 

 

बताया जा रहा है कि जब डॉक्टर ने थिया विल्सन को पहली बार देखा तो उन्हें ये प्लेटलेट्स का डिस्ऑर्डर लगा, लेकिन जब बायोप्सी की गई और ल्यूकेमिया का पता चला तो ऐसा लगा अब सबकुछ खत्म हो गया है. यहाँ इससे भी बड़ी हैरानी की बात ये निकल कर सामने आई कि थिया विल्सन को रेयर किस्म का एक्यूट प्रोमिलोसाइटिक ल्यूकेमिया था. डॉक्टर्स ने कहा कि ये मेडिकल इमरजेंसी का वक्त था लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं.

हॉस्पिटल में एडमिट थीमा

 

बताया जा रहा है कि थिया विल्सन की बीमारी के पता चलने के 24 घंटे के अंदर ही उसे फर्स्ट राउंड की कीमोथैरेपी के फोर साइकिल के बारे में बता दिया गया और इसके लिए तैयार रहने को कहा गया. यहाँ समस्या ये भी थी कि थिया के प्लेटलेट्स काउंट भी सिर्फ 9 है, जो एक स्वस्थ इंसान में 140 से 400 के अंदर पाया जाता है. काउंट कम होने के चलते इंटरनल ब्लीडिंग खतरनाक स्तर पर पहुंच गई थी. हालाँकि थिया को तुरंत सेपरेट रूम में एडमिट किया गया. इसके बाद पांच महीने तक उसकी कीमोथैरेपी और एटीआरए चलता रहा. प्लेटलेट्स बेहतर करने के लिए उसे ताजा फ्रोजन प्लाज्मा दिया जाता था. डॉक्टरों की कड़ी मेहनत और थिया विल्सन के आत्मविश्वास की बदौलत आज फिर थिया विल्सन स्वस्थ हैं.

 

News Source: Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *